बर्थडे: कुछ ऐसी है सुनील सिकंदरलाल के ‘शक्ति कपूर’ बनने की कहानी

Views : 4267  |  3 minutes read
Shakti-Kapoor-Biography

हिंदी सिनेमा के जाने-माने कॉमेडियन और विलेन शक्ति कपूर आज 68वां जन्मदिन मना रहे हैं। उनका जन्म 3 सितंबर, 1952 को दिल्ली के एक पंजाबी परिवार में हुआ। उनके नाम को लेकर एक दिलचस्प बात यह है कि शक्ति का असली नाम सुनील सिकंदरलाल है। शक्ति को फिल्मी पर्दे पर अलग-अलग किरदारों को निभाने में महारत हासिल है। फिल्मों में चाहे कैसा भी रोल हो वह उसमें खुद को बखूबी ढाल लेते हैं। शक्ति कपूर उनके जन्मदिन के अवसर पर जानिए उनकी ज़िंदगी की कुछ दिलचस्प बातें..

Shakti-Kapoor-Biography

दिल्ली के किरोड़ीमल कॉलेज से की पढ़ाई

अभिनेता शक्ति कपूर की शुरुआती शिक्षा दिल्ली में ही हुई। वहीं, उन्होंने कॉलेज की पढ़ाई भी दिल्ली यूनिवर्सिटी के किरोड़ीमल कॉलेज से पूरी की। शक्ति कपूर ने वर्ष 1982 में एक्ट्रेस शिवानी कोल्हापुरे कपूर से भागकर शादी की थी। इन दोनों के एक बेटा सिद्धार्थ और एक बेटी श्रद्धा कपूर हैं।

जब सुनील दत्त ने दिया फिल्म ‘रॉकी’ का ऑफर

शक्ति कपूर के पिता दिल्ली की कनॉट प्लेस में टेलर की शॉप हुआ करती थी, जिसमें बॉलीवुड स्टार्स का आना-जाना लगा रहता था। एक दिन उनकी दुकान पर जाने माने एक्टर सुनील दत्त आए। सुनील ने शक्ति को देखा और अपनी फिल्म ‘रॉकी’ में विलेन बनने का ऑफर दिया। फिल्म में विलेन के किरदार के लिए सुनील को शक्ति का आसली नाम सुनील सिकन्दरलाल रास नहीं आ रहा था। यही वजह थी कि उन्होंने बॉलीवुड में सुनील का नाम बदल दिया, जो आगे चलकर बॉलीवुड का मशहूर विलेन शक्ति कपूर कहलाया।

फिल्म ‘राजा बाबू’ ने बतौर कॉमिक एक्टर पहचान दिलाई

शक्ति कपूर ने अपने कॅरियर की शुरुआत वर्ष 1973 में रिलीज़ हुई फिल्म ‘कहानी किस्मत की’ से की थी। इस फिल्म के बाद उन्होंने ‘जानी दुश्मन’, ‘सरगम’ जैसी फिल्मों में काम किया। इन फिल्मों से शक्ति कुछ हद तक फिल्म इंडस्ट्री में पहचाने जाने लगे थे। वर्ष 1980 शक्ति कपूर के लिए लकी साबित हुआ। इस साल उनकी फिल्म ‘कुर्बानी’ रिलीज़ हुई। फिल्म में उनका विलेन रोल जबरदस्त हिट हुआ। इसके बाद फिल्मों में एकरुपता से बचने के लिए उन्होंने 90 के दशक में अपनी रिस्क पर विलेन के किरदार से इतर फिल्मों का चयन करना शुरू किया।

ऐश्वर्या से ब्रेकअप के बाद विवेक ओबेरॉय ने राजनेता की बेटी से की शादी, इतने अरब के हैं मालिक

वर्ष 1994 में रिलीज़ फिल्म ‘राजा बाबू’ से शक्ति कपूर ने कॉमेडी एक्टर के रूप में अपनी एक और अलग पहचान बनाई। फिल्म में उनका निभाया नंदू का किरदार आज भी लोगों के दिल के करीब है। इसी साल उनके कॅरियर की एक और सुपरहिट फिल्म ‘अंदाज अपना अपना’ रिलीज़ हुई थी, जिसमें उनका क्राइम मास्टर ‘गोगो’ का किरदार हिट रहा। उनकी कॉमेडी फिल्मों में ‘इंसाफ’, ‘राजाबाबू’, ‘हम साथ साथ हैं’, ‘चालबाज’, ‘बोल राधा बोल’, ‘तोहफा’, ‘बाप नंबरी बेटा दस नंबरी’ जैसी हिट फिल्में शामिल हैं।

COMMENT