बर्थडे स्पेशलः जानिए कैसा रहा है एमएस धोनी का अब तक का सफ़र

Views : 1973  |  0 minutes read
chaltapurza.com

टीम इंडिया के पूर्व कप्तान, विश्व के बेस्ट मैच फिनिशर और कैप्टन कूल, माही जैसे उपनामों से क्रिकेट की दुनिया में मशहूर महेन्द्र सिंह धोनी 7 जुलाई को अपना 38वां बर्थडे सेलिब्रेट कर रहे हैं। एमएस धोनी का जन्म 07 जुलाई, 1981 को झारखंड राज्य के रांची में हुआ। उनके पिता का नाम पान सिंह और माता का नाम देवकी देवी है। धोनी के बड़े भाई का नाम नरेन्द्र सिंह है, वह पाॅलिटिशिन और बहन का नाम जयंती गुप्ता है। एमएस धोनी का परिवार मूल रूप से उत्तराखंड राज्य के अल्मोड़ा जिले के लामगढ़ ब्लाॅक से आता है। उनके पैतृक गांव का नाम लवाली है। वर्षों पहले धोनी के पिता पान सिंह उत्तराखंड छोड़कर जाॅब के सिलसिले में झारखंड आ गए थे, फिर यही के होकर रह गए। यहां मेकाॅन कंपनी में बतौर जूनियर मैनेजमेंट कार्य किया। आइये अब हम आपको बताते हैं महेन्द्र सिंह धोनी के बारे में कुछ दिलचस्प बातें..

chaltapurza.com

सात अंक के साथ धोनी का अटूट रिश्ता

एमएस धोनी का सात अंक के साथ अटूट रिश्ता रहा है। उनका जन्मदिन 7 जुलाई को आता है। एक बार धोनी ने सात अंक के साथ अपने जुड़ाव को दुनिया के सामने बयां भी किया। धोनी ने कहा था कि जब वह पहली बार भारतीय टीम के साथ केन्या दौरे पर गए थे, तब अपने लिए जर्सी नंबर ढूंढ रहे थे। उस समय सात नंबर किस्मत से खाली था और वह उन्हें मिल गया। उसके बाद धोनी का मानो तो इस अंक के साथ एक गहरा रिश्ता सा जुड़ गया। संयोग की बात यह भी है कि उनका जन्म साल के सातवें महीने के सातवें दिन ही हुआ। धोनी की जर्सी का नंबर सात है, साथ ही उनकी हर बाइक और सभी कारों का नंबर भी सात ही है। यही नहीं धोनी ‘सेवन’ ब्रांड के एक परफ्यूम और डीओ के ब्रांड एंबेसेडर भी हैं। इसके अलावा धोनी की ‘फिटसेवन’ नाम से देश-विदेश में जिम चेन है और ‘सेवन’ नाम से ही उनकी क्लॉथ व शूज बनाने वाली कंपनी है।

chaltapurza.com

आईसीसी के तीन सबसे बड़े इवेंट जीताने वाले पहले कप्तान

महेन्द्र सिंह धोनी क्रिकेट की दुनिया के एकमात्र ऐसे कप्तान है जिन्होंने आईसीसी के तीन बड़े इवेंट टी-20, विश्व कप और चैंपियंस ट्राॅफी जीती है। एमएस धोनी की कप्तानी में टीम इंडिया ने वर्ष 2007 में टी-20 विश्व कप, वर्ष 2011 में वर्ल्ड कप और वर्ष 2013 में चैंपियंस ट्राॅफी पर कब्जा जमाया। कॅरियर की शुरुआत में टिकट कलेक्टर बने धोनी बाद में भारत के लिए ट्रॉफी कलेक्टर बन गए।

Read More: हर साल बारिश के बाद क्यों जाम हो जाती है मुंबई, क्या है इसकी वजह

माही के स्वभाव की बात की जाए तो वह बहुत विनम्र इंसान है। इस का एक उदाहरण यह है कि एक टी-20 मैच में वह प्लेइंग इलेवन का हिस्सा नहीं थे, लेकिन ड्रिंक्स लेकर बीच मैदान में पानी पिलाने चले गए। क्रिकेट की दुनिया में ऐसी घटना कम ही बार देखने को मिलती है। जब सीनियर प्लेयर और पूर्व कप्तान पानी पिलाने मैदान पर चले जाए। धोनी जब अपना पद्म-भूषण पुरस्कार लेने पहुंचे तो हर कोई हैरान रह था, क्योंकि वह क्रिकेटर की ड्रेस में नहीं बल्कि, सेना के अफसर की वर्दी पहनकर वहां पहुंचे थे। लेफ्टिनेंट कर्नल धोनी ने भी वर्दी का पूरा सम्मान रखा और बाकायदा पूरी ड्रिल करते हुए राष्ट्रपति के पास पहुंचे। पहले उन्हें सेल्यूट किया और फिर सम्मान लिया।

chaltapurza.com
ऐसा रहा है अब तक का कॅरियर

एमएस धोनी ने अब तक खेले 348 एकदिवसीय अंतर्राष्ट्रीय मैचों की 296 पारियों में 10,723 रन बनाए हैं। जिसमें 10 शतक और 72 अर्धशतक शामिल हैं। वनडे में उनका सर्वश्रेष्ठ स्कोर नाबाद 183 रन है। धोनी 98 टी-20 मैचों की 85 पारियों में 1617 रन बना चुके हैं और दो अर्धशतक भी लगाए हैं। अगर टेस्ट मैचों की बात करें तो महेन्द्र सिंह धोनी ने अब तक खेले 90 टेस्ट मैचों की 144 पारी में 4876 रन बनाए हैं जिसमें उन्होंने 6 शतक और 33 अर्धशतक जड़े हैं। आईपीएल में वह चेन्नई सुपर किंग्स (CSK) टीम के लंबे समय से कप्तान बने हुए हैं। धोनी अपनी कप्तानी में सीएसके को तीन बार आईपीएल का चैंपियन बना चुके हैं।

COMMENT