‘गब्बर सिंह’: शूटिंग के दौरान सेट पर कितने ही चाय के कप खाली कर देते थे अमजद खान

Views : 3634  |  4 minutes read
Amjad-Khan-Biography

बॉलीवुड में जब भी विलेन की बात होती है तो गब्बर सिंह का नाम सबसे पहले लिया जाता है। ‘कितने आदमी थे’? फिल्म शोले का यह कालजयी डायलॉग आज भी लोगों के बीच ज़िंदा है। इन सब के पीछे सिर्फ एक ही नाम था और वो है अमजद खान। उनका अंदाज, स्टाइल एकदम हटके था। अमजद ने जो भी रोल किया उसको अपनी अदाकारी से जीवंत कर दिया, इसलिए उनके निभाए सारे किरदार आज भी लोगों की जुबां पर छाए रहते हैं। आज 12 नवंबर को अमजद खान की बर्थ एनिवर्सरी है, ऐसे में इस ख़ास दिन पर जानिए उनकी ज़िंदगी से जुड़ी कुछ दिलचस्प बातें..

पेशावर में हुआ था अमजद खान का जन्म

अमजद खान का जन्म 12 नवंबर, 1940 को ब्रिटिश सरकार के अधीन भारत के पेशावर (अब पाकिस्तान) में हुआ था। उन्हें कला विरासत में मिली थी। अमजद के पिता जयंत बॉलीवुड इंडस्ट्री के काफी चर्चित खलनायक रहे। उन्होंने अपने अभिनय कॅरियर की शुरूआत बतौर बाल कलाकार वर्ष 1957 में फिल्म ‘अब दिल्ली दूर नहीं’ से कीं। वहीं, फिल्म ‘पत्थर के सनम’ के जरिए अमजद ने बतौर अभिनेता बॉलीवुड में एंट्री ली।

‘गब्बर सिंह’ के किरदार ने बदल दी थी ज़िंदगी

अभिनेता अमजद खान द्वारा निभाया गया ‘गब्बर सिंह’ का किरदार आज भी अमर है, लेकिन क्या आपको पता है अमजद को यह रोल मिलने की कहानी बेहद ही दिलचस्प है। फिल्म ‘शोले’ के लिए पहले यह रोल डैनी को ऑफर हुआ, लेकिन बाद में उनके नहीं आने के कारण अमजद खान को कहा गया। फिल्म के एक राइटर जावेद अख्तर, अमजद को लेकर शुरू से राजी नहीं थे क्योंकि अमजद की आवाज उनको पसंद नहीं थी। आगे चलकर उस आवाज ने ही फिल्म के डायलॉग्स में जान फूंक दी।

चाय के बेहद शौकीन और ‘बिग बी’ के बेस्ट फ्रेंड थे

बॉलीवुड अभिनेता अमजद खान और सुपरस्टार अमिताभ बच्चन के बीच काफी गहरी दोस्ती हुआ करती थी। अमजद खान, अमिताभ को SHORTY कहकर बुलाते थे तो वहीं अमिताभ उन्हें BROAD कहकर पुकारते थे। अमजद के बारे में यह भी कहा जाता है कि वो चाय के बेहद शौकीन थे। शूटिंग के दौरान वो सेट पर कितने ही चाय के कप खाली कर देते थे।

वर्ष 1976 की एक घटना ने सबकुछ बदल दिया

एक कलाकार के तौर पर अमजद खान के पास सबकुछ था। रुपया-पैसा, रुतबा, प्यार और बच्चे। कॅरियर में भी वे लगातार सफलता की सीढ़ियां चढ़ रहे थे। लेकिन वर्ष 1976 की एक घटना ने उनका सबकुछ बदल दिया। वह फिल्म ‘द ग्रेट गैंबलर’ की शूटिंग के लिए जा रहे थे। अमजद जैसे ही मुंबई-गोवा हाईवे पर पहुंचे तो उनका दर्दनाक एक्सीडेंट हो गया। इस एक्सीडेंट में उनके एक फेफड़े में छेद हो गया और पसलियां टूट गईं। गंभीर चोटों की वजह से अमजद लगभग कोमा में ही पहुंच गए थे, हालांकि, धीरे-धीरे वह ठीक भी हो गए।

विशेष: बतौर कंडक्टर बस में यात्रियों को हंसाने के लिए कॉमेडी किया करते थे अभिनेता जॉनी वॉकर

लेकिन इलाज के दौरान अमजद को जो दवाईयां दी गईं, उनकी वजह से उनका वजन फिर लगातार बढ़ता ही चला गया। इसकी वजह से उन्हें और भी कई परेशानियों ने घेर लिया। इस कारण अमजद खान काफी परेशान रहने लगे थे। 27 जुलाई, 1992को हार्ट फेल हो जाने के कारण उनका 51 साल की उम्र में निधन हो गया।

COMMENT